कॉमर्स के क्षेत्र में कॅरिअर कैसे बनाये?

What Is The Career Scope In Commerce? (कॉमर्स के क्षेत्र में कॅरिअर कैसे बनाये?)

What Is The Career Scope In Commerce?

कॉमर्स के क्षेत्र में कॅरिअर कैसे बनाये?

 

कॉमर्स के क्षेत्र में कॅरिअर कैसे बनाये?

 

 

आज भारत की अर्थव्यवस्था विश्व की टॉप विकसित अर्थव्यवस्थाओं में शुमार होती जा रही है| डेमोनेटिज़ेशन और जीएसटी के रूप में भारत सरकार के महत्वपूर्ण फैसलों के सकारात्मक प्रभावों से भारतीय अर्थव्यवस्था ने तेज़ी पकड़ ली है| और इसी के साथ भारत में व्यावसायिक गतिविधियों में भी दिनो दिन बढ़ोतरी हो रही है| और आप सभी जानते है कि कोई भी बिज़नेस बिना पैसे के आगे नहीं बढ़ सकता है| जब भी बिज़नेस में पैसा लगाने की बात आती है तो तीन चीजे सामने आती है – फाइनेंस, कैपिटल, और एकाउंटिंग|

इन सभी बातों को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि फाइनेंस और एकाउंटिंग के क्षेत्र में करिअर बनाने के लिए काफी स्कोप है| इस क्षेत्र में भविष्य काफी उज्जवल है|

अगर आपके पास है फाइनेंस या एकाउंटिंग की डिग्री या आप है एक कॉमर्स और बिज़नेस बैकग्राउंड से तो आप फाइनेंस और एकाउंटिंग के क्षेत्र में कई रूपों में अपना कॅरिअर बना सकते है और एक सामाजिक रुतबा कायम कर सकते है|
क्या क्या अवसर है इस क्षेत्र में-

 

चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA ) के रूप में
कॉमर्स बैक ग्राउंड के लोगों के लिए चार्टर्ड एकाउंटिंग का ऑप्शन बेहद लोकप्रिय है और एक चार्टर्ड अकाउंटेंट अपने समाज में एक प्रतिष्ठित हस्ती माना जाता है| इसका कोर्स भारतीय सीए संस्थान, नई दिल्ली द्वारा करवाया जाता है जिसके कई राज्यों और जिलों में क्षेत्रीय कार्यालय है| यह एक आम आदमी के बजट में किया जा सकने वाला कोर्स है| इस क्षेत्र में भविष्य बहुत सुनहरा है|

चार्टर्ड सेक्रेटरी (CS ) के रूप में
कॉर्पोरेट जगत में हर बिज़नेस इकाई का सारथी होता है एक चार्टर्ड सेक्रेटरी| क्योंकि एक चार्टर्ड सेक्रेटरी ही है जो बिज़नेस के सभी क़ानूनी अनुपालनाओं को विधिवत रूप से संपन्न करवाता है| इसे कंपनी सेक्रेटरी के नाम से भी जाना जाता है|

सर्टिफाइड मैनेजमेंट अकाउंटेंट (CMA ) के रूप में
यह कोर्स भारत के साथ ही विदेशों में भी मान्यता प्राप्त है| बिज़नेस के टॉप लेवल के प्रबंधको को वित्तीय सलाह देने और बिज़नेस के लेखांकन और वित्तीय विश्लेषण की जानकारी देने के लिए लगभग हर बड़ी कंपनी में CMA नियुक्त किये जाते है|

 

Which Life Insurance Plan is Best For You? (कौनसा जीवन बीमा प्लान रहेगा आपके लिए अच्छा)

6 Techniques To Increase Your CIBIL Score (अपने सिबिल स्कोर को बेहतर बनाने के कारगर तरीके)

How to Revise Income Tax Return (ITR) After Filing? (कैसे सुधारें Income tax return में हुई गलतियों को?)

 

टैक्स कंसल्टैंट (कर सलाहकार) के रूप में
इनकम टैक्स के साथ ही अब जीएसटी का काम भी बढ़ गया है| हर छोटे व्यवसायी तक को हर महीने कई रिटर्न भरनी पड़ती है साथ ही कई तरह की अन्य अनुपालनाये पूरी करनी पड़ती है| इन सभी कारणों से अब हर व्यापारी को एक टैक्स सलाहकार की हर मोड़ पर जरुरत पड़ती है|

फोरेंसिक अकाउंटेंट के रूप में
कई व्यवसायों में एकाउंट्स में छेड़छाड़ के द्वारा कई घपले किये जा रहे है| जो आगे चल कर कंपनी के शेयरधारकों और साथ ही साथ सरकार के लिए नुकसानदायक होता है| इसे रोकने के लिए भारत सरकार ने ICAI के माध्यम से एक नए प्रकार का कोर्स चालू करवाया है जिसका नाम फोरेंसिक एकाउंटिंग कोर्स है| हम फोरेंसिक अकाउंटेंट के रूप में एक अच्छा करिअर बना सकते है|

एक शिक्षक के रूप में
एक शिक्षक ही वास्तविक अर्थ में राष्ट्रनिर्माता होता है| हम एक शिक्षक के रूप में भी अपने करियर की शुरुआत कर सकते है| कॉलेज और यूनिवर्सिटी में पढ़ाने के लिए आपको भारत सरकार द्वारा आयोजित नेट (नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट) पास करना होता है और साथ में Ph .d भी करनी होती है|

 

 

इन सबके अलावा भी कई ऑप्शन है जिनमें आप कॅरिअर बना सकते है, जैसे-
इन्वेस्टमेंट बैंकर के रूप में
कॉस्ट अकाउंटेंट के रूप में
प्रबंधकीय सलाहकार के रूप में
एक्चुअरी के रूप में
फाइनेंस मेनेजर के रूप में
डाटा विश्लेषक के रूप में
इकोनॉमिस्ट के रूप में, आदि|

 

इस प्रकार फाइनेंस और एकाउंटिंग के क्षेत्र में कॅरिअर बनाने के कई सुनहरे अवसर आपका इंतज़ार कर रहे है| और इस क्षेत्र में भविष्य में उन्नति की प्रबल संभावना है|

 

 

gyaan ki dukan

आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें जरूर बताएं हमारे कमेंट बॉक्स के माध्यम से या फिर आप हमें मेल भी कर सकते है हमारी मेल आईडी यहाँ है| आपके विचारों और  सुझावों का हम दिल से इंतज़ार करेंगे और आगे आने वाले useful Articles को और ज्यादा गुणवत्ता युक्त बनाने का प्रयास करेंगे|

 

धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *